पेटीएम को भारत का सबसे बड़ा आईपीओ लाने की मिल चुकी हैं मंजूरी
Paytm has got approval to bring India's biggest IPO

पेटीएम को भारत का सबसे बड़ा आईपीओ लाने की मिल चुकी हैं मंजूरी

नई दिल्ली

डिजिटल वित्तीय सेवा कंपनी पेटीएम को 16,600 करोड़ रुपये के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के लिए बाजार नियामक सेबी से मंजूरी मिल गई है। इस प्रक्रिया से जुड़े एक सूत्र ने जानकारी दी। उम्मीद है कि कंपनी इस महीने के अंत तक शेयर बाजार में उतरेगी और वह तेजी से सूचीबद्ध होने के लिए आईपीओ से पहले शेयर बिक्री को छोड़ने की योजना बना रही है।

सबसे बड़ा आईपीओ

अगर पेटीएम का आईपीओ सफल रहता है तो यह देश का अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ होगा। अब तक यह रेकॉर्ड कोल इंडिया के नाम है जिसने 2010 में आईपीओ के जरिए 15,000 करोड़ रुपये से अधिक कमाए थे। पेटीएम के आईपीओ के संचालन के लिए जिन बैंकों को शॉर्टलिस्ट किया गया है। उनमें Morgan Stanley, Citigroup Inc. और JPMorgan Chase & Co. शामिल हैं। इनमें Morgan Stanley की दावेदारी सबसे मजबूत है। पेटीएम के फाउंडर और सीईओ विजय शेखर शर्मा पिछले एक साल से रेवेन्यू बढ़ाने और पेटीएम की सर्विसेज को मॉनिटाइज करने में लगे हैं। स्टार्टअप ने अपना कारोबार डिजिटल पेमेंट्स के बाहर बैंकिंग, क्रेडिट कार्ड, फाइनेंशियल सर्विसेज, वेल्थ मैनेजमेंट और डिजिटल वॉलेट के क्षेत्र में फैलाया है। पेटीएम ने PhonePe, Google Pay, Amazon Pay और WhatsApp Pay की चुनौती का सफलतापूर्वक सामना किया है। देश के मर्चेंट पेमेंट्स में इसकी बाजार हिस्सेदारी सबसे अधिक है। कंपनी के हालिया ब्लॉग पोस्ट के मुताबिक पेटीएम के 2 करोड़ से अधिक मर्चेंट पार्टनर्स हैं और इसकी यूजर हर महीने 1.4 अरब ट्रांजेक्शन करते हैं। शर्मा ने हाल में कहा था कि पेटीएम के लिए इस साल के पहले तीन महीने सबसे अच्छे रहे। इस दौरान कोविड-10 महामारी के कारण डिजिटल पेमेंट्स में काफी तेजी आई।

1.78 लाख करोड़ का मूल्यांकन चाह रही है कंपनी

सूत्र ने कहा कि कंपनी द्वारा आईपीओ से पहले धन जुटाने की योजना को छोड़ने का फैसला किसी मूल्यांकन के अंतर से संबंधित नहीं है। पेटीएम 1.47-1.78 लाख करोड़ रुपये का मूल्यांकन चाह रही है। अमेरिका स्थित मूल्यांकन विशेषज्ञ अश्वथ दामोदरन ने फर्म के गैर-सूचीबद्ध शेयरों का मूल्यांकन 2,950 रुपये प्रति शेयर किया है।

 

Paytm has got approval to bring India’s biggest IPO