You are currently viewing महानगर में हैल्प एंड केयर वैलफेयर सोसाइटी का हुआ गठन, दोसांझ बने प्रधान
Help and Care Welfare Society was formed in the metropolis, Dosanjh became the head

महानगर में हैल्प एंड केयर वैलफेयर सोसाइटी का हुआ गठन, दोसांझ बने प्रधान

जालंधर (लखबीर)

जनता की सेवा भावना के मद्देनजर महानगर में हैल्प एंड केयर वैलफेयर सोसाइटी का गठन हुआ। इस दौरान युवाओं में पूरा जोश देखने को मिला। इस मौके सर्वसमिती से मनदीप सिंह दोसांझ (मन्नु दोसांझ) को प्रधान नियुक्त किया गया। इस अवसर पर युवाओं ने कहा कि मन्नु दोसांझ लंबे समय से लोगों की सेवा करते आ रहे हैं, जिसके मद्देनजर उन्हें प्रधानगी के अहुदे से नवाजा गया है। उन्होंने कहा कि मन्नु बिना किसी भेदभाव व पार्टी से ऊपर उठकर विभिन्न इलाकों के लोगों की मुश्किलों का हल करते आ रहे हैं, जिसके चलते इलाके के साथ-साथ पूरे शहर में उनकी समाज सेवक के तौर पर पहचान बन चुकी है। चाहे किसी भी तरह की समस्या हो वह सुनते आ रहे हैं। चाहे दिन हो या रात उन्होंने इस बात की कभी प्रवाह किए बिना जनता की समस्या को अपनी समझकर दूर करवाया है। इलाके में सालों से लगे कूड़े के ढेर का सफाया करवाने के साथ-साथ मन्नु ने पावरकाम से संबंधित मसलों को भी पहल के आधार पर हल करवा कर लोगों को राहत प्रदान की है। वहीं दूसरी ओर सोसाइटी के प्रधान मन्नु दोसांझ ने कहा कि लोग उनको अपना समझकर समस्या बताते हैं, जिसके चलते वह पहल के आधार पर लोगों की सुनवाई करते आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि उनका मकसद है कि जो भी उनके पास समस्या लेकर आए उसका काम जरूर हो सके। वहीं उन्होंने कहा कि युवाओं को आपने साथ जोड़ कर सही दिशा दिखाने की कोशिश करते आ रहे हैं, जिसमें वह काफी हद तक कामयाब भी हो चुके हैं क्योंकि इलाके के ही नहीं बल्कि पूरे शहर से युवा उनके साथ जुड़कर लोगों की सेवा करने की इच्छा जता रहे हैं। दोसांझ ने कहा कि जो युवा नशे जैसी दलदल में फंस चुके हैं, उन्हें बाहर निकाल कर अच्छी दिशा दिखाने की कोशिश की जा रही है। वहीं उन्होने कहा कि इलाके में नशे का व्यापार करने वालों के खिलाफ लोगों की मदद से मोर्चा खोला दिया गया है ताकि नशे के साथ-साथ नशा तस्करों को भी खत्म किया जा सके। इस अवसर पर राहुल शर्मा, हरसिमरनजीत सिंह, पलविन्द्र सिंह, सन्नी शर्मा, बचित्र सिंह, अनूप शर्मा व विशाल आदि मौजूद थे।

 

Help and Care Welfare Society was formed in the metropolis, Dosanjh became the head