पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने अनिवासी भारतीय के मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हस्तक्षेप की मांग
Former Chief Minister Parkash Singh Badal sought Prime Minister Narendra Modi's intervention in the matter of NRI

पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने अनिवासी भारतीय के मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हस्तक्षेप की मांग

चंडीगढ़

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने अनिवासी भारतीय (एनआरआई) दर्शन सिंह धालीवाल के मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हस्तक्षेप की मांग की जिन्हें भारत में प्रवेश से वंचित कर दिया गया था। बादल ने दावा किया कि अधिकारियों ने धालीवाल के 23 और 24 अक्टूबर की दरम्यानी रात को अमेरिका से आने के बाद दिल्ली हवाईअड्डे से ही वापस भेज दिया था। उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसा दिल्ली की सीमा पर प्रदर्शनकारी किसानों के लिये लंगर आयोजित करने के कारण “सजा” के तौर पर किया गया। पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से “व्यक्तिगत व प्रभावी रूप से दखल” देने को कहा। बादल ने मोदी से व्यक्तिगत रूप से धालीवाल को “सद्भावना के भाव” के तौर पर आमंत्रित करने का अनुरोध किया। जो अनिवासी भारतीयों को एक अच्छा सकारात्मक संकेत भेजेगा। अकाली नेता ने कहा कि धालीवाल अपनी पत्नी के साथ परिवार में एक शादी में शामिल होने के लिए भारत आ रहे थे। उन्होंने कहा कि ‘लंगर’ जैसे पवित्र सामाजिक-धार्मिक कार्य को आयोजित करना या प्रायोजित करना हमेशा सिख धर्म के प्रत्येक अनुयायी के लिए सर्वोच्च और महान कर्तव्यों में से एक माना जाता है।किसानों के आंदोलन को “राष्ट्रीय आंदोलन” बताते हुए बादल ने कहा कि इस “सभ्य, शांतिपूर्ण और लोकतांत्रिक आंदोलन” में भाग लेने वालों की मदद करने में कुछ भी गलत या अवैध नहीं था।

 

Former Chief Minister Parkash Singh Badal sought Prime Minister Narendra Modi’s intervention in the matter of NRI